यह सुनिश्चित करने के लिए बाइक का रखरखाव करना महत्वपूर्ण है कि यह सड़क के दौरान पकड़ में न आए। एक चीज जो हमें नियमित रूप से देखनी चाहिए वह है टायरों का दबाव। 

T1

बाइक के टायरों पर दबाव न केवल इसके प्रदर्शन को प्रभावित करता है, बल्कि इससे दुर्घटनाएं भी हो सकती हैं। दबाव ज्यादा होने पर बाइक के टायर में हवा का कम दबाव नुकसान पहुंचा सकता है।

T1

और सबसे जरुरी बात यह की इसलिए हर बाइक चालक को पता होना चाहिए कि टायर में कितनी हवा होनी चाहिए। यह हम आपको समझाएंगे।

T1

आपकी बाइक के टायरों को भरने के लिए कितनी मात्रा में हवा की आवश्यकता है, यह सटीक होना कई परिस्थितियों पर निर्भर करता है।

T1

पहला, जिस स्थान पर आप गाड़ी चला रहे हैं, और दूसरी बात यह है कि आप कितना वजन उठा रहे हैं, और बाइक का उपयोग कर रहे हैं। 

T1

और सबसे जरुरी बात यह भी है जिसका हमे ध्यान रखना जरुरी है और वो यह है की इसके अलावा हवा का दबाव उस टायर के आकार पर निर्भर करता है जिस पर बाइक चल रही है।

T1

यदि आपकी बाइक के टायरों और ट्यूबों की स्थिति अच्छी नहीं है, तो उच्च दबाव के कारण ट्यूब के फटने का खतरा बढ़ जाता है।

T1

और जरुरी बात यह भी हालांकि, परिस्थितियों की परवाह किए बिना अधिकांश बाइक्स के टायर पर्याप्त हवा के सेवन को संभालने में सक्षम होने चाहिए। 

T1

बाइक के सामने टायर की वायु दाब सीमा 22 PSI से 29 PSI के बीच हो सकती है। उसी तरह, पिछले टायर में तनाव 35 और 30 PSI के बीच तीस PSI जितना अधिक हो सकता है।

T1

टायर पर अधिक भार होने के कारण हवा अधिक रह जाती है।अलग-अलग परिस्थितियों में, हवा के दबाव में 2 से 4 अंक के बीच उतार-चढ़ाव हो सकता है।

T1

यदि आप अभी भी अपनी बाइक में हवा के दबाव के बारे में अनिश्चित हैं, तो इसे बाइक के साथ आने वाली निर्देश पुस्तिका में देखना सबसे अच्छा है।

T1

Top Selling bikes:जाने 2022 की ज्यादा बिकने वाली बाइक Click on the link above to read more in details ..

T1